श्मशान घाट हादसे में अब तक 25 लोगों की मौत, ईओ समेत तीन आरोपी गिरफ्तार, ठेकेदार फरार | #NayaSaberaNetwork

नया सबेरा नेटवर्क
गाजियाबाद । उत्तर प्रदेश के मुरादनगर में हुए दर्दनाक श्मशान घाट  हादसे में 25 लोगों की मौत हो गई। कई लोग घायल हो गए। सीएम योगी आदित्यनाथ ने हादसे को लेकर तुरंत कार्रवाई के निर्देश दिए। जिसके बाद पुलिस ने ईओ निहारिका सिंह समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। 
घटना को लेकर उत्तर प्रदेश सीएम योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लेते हुए तत्काल राहत पहुंचाने और कार्रवाई के निर्देश दिए। जिसके बाद ठेकेदार, नगरपालिका की कार्यपालन अधिकारी समेत कई लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो चुकी है। इस मामले में ईओ, इंजीनियर और सुपरवाइजर को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि ठेकेदार फरार है।
श्मशान घाट हादसे में अब तक 25 लोगों की मौत, ईओ समेत तीन आरोपी गिरफ्तार, ठेकेदार फरार | #NayaSaberaNetwork



हादसे के जिम्मेदार 
इस हादसे में जिन लोगों के खिलाफ एफआईआर हुई है उनमें मुरादनगर नगरपालिका की ईओ (एग्जीक्यूटिव ऑफिसर)  निहारिका सिंह के साथ ही जूनियर इंजीनियर चंद्रपाल, सुपरवाइजर आशीष और ठेकेदार अजय त्यागी शामिल है। इनके साथ ही कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज की गई है।

इन्हें हादसे का मुख्य आरोपी माना जा रहा है। ये हैं वो लोग जिनकी लापरवाही के कारण गाजियाबाद के मुरादनगर में दो दर्जन से ज्यादा जाने चली गई। आरोप है कि श्मशान घाट की छत बनाने में खराब माल का इस्तेमाल किया गया है। 

गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज
गाजियाबाद पुलिस ने मृतकों की तहरीर पर केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। श्मशान घाट में हुई दर्दनाक घटना के मामले में गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज किया गया है। मामले में आईपीसी की धारा 304 और 337, 338 के तहत केस दर्ज किया गया है। इस केस के मुख्य आरोपी ठेकेदार अजय त्यागी की तलाश की जा रही है।

50 साल होती है एक बिल्डिंग की लाइफ 
इस हादसे में कई लोग घायल हुए हैं। रेस्क्यू ऑपरेशन को अंजाम देने वाले एनडीआरएफ के सीओ प्रवीण तिवारी का कहना है कि उनकी टीम ने सभी अत्याधुनिक मशीनों का इस्तेमाल इस रेस्क्यू ऑपरेशन में किया। 
प्रवीण तिवारी का ये भी कहना है कि किसी भी बिल्डिंग की लाइफ 50 साल तक होती है लेकिन ये बिल्डिंग हाल की बनी हुई है और कंस्ट्रक्शन को देखकर लगता है कि सीमेंट और रेत का इस्तेमाल सही अनुपात में नहीं किया गया होगा, जिसकी वजह से बिल्डिंग इतनी जल्दी गिर गई।

बारिश के कारण ढह गई छत
पुलिस ने बताया कि जिस वक्त श्मशान की छत गिरी, तब बारिश की वजह से करीब 25 लोग वहां मौजूद थे। ये लोग वहां अपने रिश्तेदार राम धन का अंतिम संस्कार करने पहुंचे थे। गाजियाबाद (ग्रामीण) के पुलिस अधीक्षक इरज राजा ने कहा कि घटना के कुछ ही समय बाद राहत और बताव कर्मी वहां पहुंचे। पुलिस अधिकारी ने बताया कि कई लोगों को वहां से निकालकर तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया। 

*Ad : श्री गांधी स्मारक इण्टर कालेज समोधपुर के पूर्व प्रधानाचार्य डॉ. रणजीत सिंह की तरफ से नव वर्ष 2021, मकर संक्रान्ति एवं गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई*
Ad

*Ad : लोकदल के राष्ट्रीय सचिव घनश्याम दुबे की तरफ से नव वर्ष 2021, मकर संक्रान्ति एवं गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई*
Ad

*Ad : समाजवादी पार्टी जौनपुर के जिलाध्यक्ष लाल बहादुर यादव की तरफ से नव वर्ष 2021, मकर संक्रान्ति एवं गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई*
Ad




from Naya Sabera | नया सबेरा - No.1 Hindi News Portal Of Jaunpur (U.P.) https://ift.tt/3n93ONX

Post a Comment

0 Comments