कोरोना का कहर-खेलों के महाकुंभ पर ग्रहण-कैसे होगा टोक्यो ओलंपिक खेल 2021-ओलंपिक की रूल बुक जारी | #NayaSaberaNetwork

कोरोना का कहर-खेलों के महाकुंभ पर ग्रहण-कैसे होगा टोक्यो ओलंपिक खेल 2021-ओलंपिक की रूल बुक जारी | #NayaSaberaNetwork


नया सबेरा नेटवर्क
महामारी के दौर में खेल,सिनेमा, सांस्कृतिक,सामाजिक आयोजनों से पहले अपना जीवन बचाना जरूरी-एड किशन भावनानी
गोंदिया - वैश्विक स्तर पर कोरोना महामारी नें फिर कहर बरसाना शुरू कर दिया है।हर देश अपने- अपने स्तर पर पूरी तरह सतर्क हो गए हैं और अपने-अपने स्तर पर नई गाइडलाइंस व नियम बना रहे हैं।कुछ देशोंमें लॉकडाउन लगाया गया है तो उसमें तैयारी चल रही है।इस बीच खेलों का महाकुंभ ओलंपिक खेल 2021 जिसका आयोजन जापान की राजधानी टोक्यो में ओलंपिक खेल 2021 का आयोजन 23 जुलाई 2021 से 8 अगस्त 2021 तक होना पूर्वमें ही निर्धारित है और इलेक्ट्रॉनिक मीडियाकी जानकारी के अनुसार जापान में इस संबंध में पूर्ण तैयारियां कर ली है,और ओलंपिक का रूल बुक भी जारी हो गया है। दुनिया के सबसे बड़े खेल आयोजन का यह खेल महाकुंभ हर 4 वर्षों में के अंतराल में होता है और अलग-अलग देशों को आयोजन की मेजबानी दी जाती है।हालांकि इसकाआयोजन वर्ष 2020 में होना था और कोरोना वायरस की भयंकर महामारी का वैश्विक स्तर पर अटैक के कारण इस आयोजन को रोकना पड़ा था,और वर्ष भर के लिए आगे बढ़ा दिया गया था याने 23 जुलाई 2021 को निर्धारित किया गया था और फिर इस वर्ष 2021 में भी कोरोना महामारी ने अपना रौद्र रूप अभी वैश्विक स्तर पर दिखाना शुरू कर दिया है।लेकिन मीडिया मेंचर्चाओं के अनुसार जापान सरकार और अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक संघ ने तमाम मुद्दों पर विचार करने के बाद,आयोजन को हरी झंडी दी है और ओलंपिक रूलबुक जारी कर दिया है,जिसमें जापान आने वाले खिलाड़ियों,कोचो,जजों,मीडिया प्रचारकों, वीआईपी,सभी को कुछ दिन पृथक वास में रहना होगा। इसके अलावा जापान पहुंचने पर हवाई अड्डे पर और खेल गांव पर टेस्ट होंगे, याने कोरोना महामारी को ध्यान में रखकर पूरी व्यवस्था भी की गई है।याने अस्पष्ट सूत्रों अनुसार ऐसे फैसला लिया गया है कि,जापान के दर्शक ही इस खेलों को प्रत्यक्ष देख सकेंगे,दूसरे देशों के दर्शक टोक्यो जाकर इस खेलोंको नहीं देख सकेंगे।ओलंपिक की तैयारियों को देखते हुए ओलंपिक मशाल भी ग्रीस के प्राचीन ओलंपिया के पवित्र स्थल पर हेरा के मंदिर में बीते वर्ष 12 मार्च को टोक्यो ओलंपिक की मशाल जलाई गई थी।इसके बाद पैनासोनिक स्टेडियम में एक समारोह के दौरान मशाल को जापान को सौंप दिया गया था।अब टोक्यो ओलंपिक की मशाल रिले जापान में 25 मार्च बुधवार को शुरू की गई और 23 जुलाई को खेलों के महाकुंभ के आगाज के साथ खत्म होगी।यह तो रही मशाल,ओलंपिक,रूलबुक और व्यवस्था एवं तैयारियों की बात।परंतु मीडिया के अनुसार वहां भी कोरोना महामारी को देखते हुए चार अलग-अलग परिस्थितियों की कल्पना की गई है।एक जिसमें यात्रा संबंधी पाबंदियां,महामारी अभी गई नहीं है,जोर पकड़ रही है,और अंतिम जिसमें महामारी खत्म हो गई है।परंतु ऐसी उम्मीद तो ना के बराबर ही है कि,तक कोरोना महामारी विश्व से पूरी तरह से समाप्त हो जाए।मेरा यह निजी मानना है कि जिस तेजी के साथ अभी महामारी बढ़ रही है इसे कंट्रोल में लाने काफी समय लग सकता है,अगर हम भारत की बात करें तो यहां तेजी सेमहामारी पर नियंत्रण करने की नीतियों पर तेजी से कार्य किया जा रहा है।टीकाकरण में तेजी लाई जा रही है शासन,प्रशासन की ओर से रात दिन इस दिशा में की ओर कार्य किए जा रहे हैं।वैसे अभी बच्चों की परीक्षाएं भी चल रही है या करीब है,करीब आ गई है ऐसे में उनका टेंशन दूर करने के लिए माननीय प्रधानमंत्री महोदय ने मंगलवार दिनांक 6 फरवरी2020 को परीक्षार्थियों के साथ वर्चुअल मीटिंग की और उन्हें करोना काल में टेंशन दूर करने के मंत्र दिए दूसरी और अगर हम भारत के खिलाड़ियों की बात करें तो भारत हमेशा ओलंपिक खेलों केमहाकुंभ में वैश्विक स्तर पर अपना लोहा मनवाता रहा है।हमारे खिलाड़ी वहां पूरी फुर्ती से लड़कर गोल्ड सिल्वर ब्रांस मेडल जीतते रहे हैं।परंतु इस बार कोरोना महामारी को देखते हुए खेल विभाग क्या रणनीति अपनाता है और किस तरह खिलाड़ियों को सुरक्षा में ले जाने की तैयारी करता है यह देखने वाली बात होगी।हालांकि जान है तो जहान है,हम सब मिलकर अभी कोरोना महामारी से लड़ाई करले,खिलाड़ी भी आगे आकर भारत का किला पदकों से फतेह करें।वैसे आगे 2024 की मेजबानी पेरिस और 2026 के यूथ ओलंपिक के आयोजन के लिए थाईलैंड रूस और कोलंबिया से भारत को प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ेगा।फिलहाल तो भारत सहित पूरा विश्व कोरोना वायरस से संघर्ष कर रहा है लेकिन ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि इस महामारी के खत्म होने के बाद 2032में होने वाले ओलंपिक में भारत मेज़बानी की कोशिश कर सकता है
संकलनकर्ता,लेखक-कर विशेषज्ञ एडवोकेट किशन सनमुखदास भावनानी गोंदिया महाराष्ट्र


*Ad : एस.आर.एस. हॉस्पिटल एवं ट्रामा सेन्टर | स्पोर्ट्स सर्जरी | डॉ. अभय प्रताप सिंह | (हड्डी रोग विशेषज्ञ) | आर्थोस्कोपिक एण्ड ज्वाइंट रिप्लेसमेंट ऑर्थोपेडिक सर्जन | # फ्रैक्चर (नये एवं पुराने)| # ज्वाइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी | # घुटने के लिगामेंट का बिना चीरा लगाए दूरबीन | # पद्धति से आपरेशन | # ऑर्थोस्कोपिक सर्जरी | # पैथोलोजी लैब | # आई.सी.यू.यूनिट | मछलीशहर पड़ाव, ईदगाह के सामने, जौनपुर (उ.प्र.) | सम्पर्क- 7355358194, Email : srshospital123@gmail.com*
Ad



*Ad : होली और शुभलगन के खास मौके पर प्रत्येक 5700 सौ के खरीद पर स्पेशल ऑफर 1 चाँदी का सिक्का मुफ्त प्रत्येक 11000 हजार के खरीद पर 1 सोने का सिक्का मुफ्त रामबली सेठ आभूषण भण्डार (मड़ियाहूँ वाले) 75% (18Kt.) है तो 75% (18Kt.) का ही दाम लगेगा। 91.6% (22Kt.) है तो (22Kt.) का ही दाम लगेगा। वापसी में 0% कटौती राहुल सेठ 09721153037 जितना शुद्धता | उतना ही दाम विनोद सेठ अध्यक्ष- सर्राफा एसोसिएशन, मड़ियाहूँ पूर्व चेयरमैन प्रत्याशी- भारतीय जनता पार्टी, मड़ियाहूँ मो. 9451120840, 9918100728 पता : के. सन्स के ठीक सामने, कलेक्ट्री रोड, जौनपुर (उ.प्र.)*
Ad

*Ad : ADMISSION OPEN - SESSION 2021-2022 | SURYABALI SINGH PUBLIC Sr. Sec. SCHOOL | Classes : Nursery To 9th & 11th | Science Commerce Humanities | MIYANPUR, KUTCHERY, JAUNPUR | Mob.: 9565444457, 9565444458 | Founder Manager Prof. S.P. Singh | Ex. Head of department physics and computer science T.D. College, Jaunpur*
Ad



from Naya Sabera | नया सबेरा - No.1 Hindi News Portal Of Jaunpur (U.P.) https://ift.tt/3sXVjc9

Post a Comment

0 Comments